सात से आठ माह पुराना बताया जा रहा है कोतवाली बिलारी का वायरल वीडियो|

उत्तर प्रदेश में जहाँ एक ओर पुलिस प्रशासन को गरीब व असहाय लोग अपना मसीहा मानते है|तो वही दूसरी ओर पुलिस प्रशासन गरीब व असहाय लोगो का जमकर उत्पीड़न करते नजर आ रहे है| जी हा सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा यह वीडियो साफ़तौर और पुलिस का दूसरा रूप सामने आ रहा है|आपको बता दे की यह पूरा मामला जनपद मुरादाबाद के कोतवाली बिलारी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा था|उस वीडियो की सच्चाई जानने के लिए आज न्यूज-20 की टीम उस गांव और उस जगह पर पहुचे|जहाँ उन व्यक्तियों से भी मिले जिनके व्यक्तियों के साथ पुलिस ने मारपीट की थी|आपको बताते चले की यह वीडियो पिछले सात आठ महीने पुराना है|पीड़ित प्रेमपाल ग्वाल खेड़ा निवासी ने बताया कि मैंने 2 बीघा जमीन गांव की एक महिला से ली थी|उसके पैसों का लेनदेन एवं बैनामा बी हो गया था|लेकिन महिला ने जमीन पर कब्जा जमाए रखा|हमने महिला की शिकायत थाना बिलारी में भी की|लेकिन थाना प्रभारी गजेंद्र त्यागी द्वारा 2 दिन तक हमारी समस्या को सुनने की बात कहते रहे|लेकिन जब हलका इंचार्ज की मदद से महिला को थाने बुलवाया गया|तो गजेंद्र त्यागी ने हमें ही सबके सामने पीटना शुरू कर दिया|जिससे वीडियो किसी अनजान आदमी ने बना लिया|और वह सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया|जबकि हमने एसपी दफ्तर का दरवाजा भी खटखटाया|लेकिन एसएसपी साहब नहीं मिल पाए उसके बाद हमने शिकायतें भी की|लेकिन हम इस वीडियो को लेकर और अपने सभी शिकायतें पत्र लेकर अधिकारी के पास भी गये|लेकिन उस समय लॉक डाउन की वजह से काफी दिक्कतें आयी|इसलिए इस वीडियो को लेकर हम अधिकारियों से नहीं मिल पाए इसलिए हमने सोशल मीडिया पर यह वीडियो सेंड कर इंसाफ की गुहार लगाई है|हम तो उस सरकार की बात कहते हैं जो हमारे मुखिया योगी आदित्यनाथ पुलिस से न्याय दिलाने की बात कहते हैं लेकिन उनकी ही पुलिस हमारे साथ इस तरीके से व्यवहार करेगी तो क्या कोई फरियाद लेकर थाने जाने की हिम्मत जुटा पाएगा पुलिस पीड़ित को ही पीटने लगे तो न्याय कौन करेगा|हम आपको बता दे ऐसी शिकायतें और ऐसा व्यवहार अगर पुलिस का हो जाए तो फरियादियों को इंसाफ कहां मिलेगा बहुत सवाल प्रशासन पर खड़े होते हैं|फिलहाल इस मामले को लेकर प्रशासनिक अधिकारियों में घमासान मचा है|अब देखने वाली बात यह होगी बाकी की उच्च अधिकारी इस मामले पर क्या संज्ञान लेते हैं|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *